On-Page SEO in Hindi | On-Page SEO Kaise Kare | on-page SEO kya hai | On-page SEO | On-page SEO techniques in Hindi | Kaise kare On-page SEO | Onpage SEO hindi.

On-Page SEO in Hindi | On-Page SEO Kaise Kare

On-Page SEO in Hindi: On Page SEO, SEO के सबसे महत्वपूर्ण हिस्सों में से एक है। यह आपको सर्च रिजल्ट में अच्छी रैंक प्राप्त करने और website traffic बढ़ाने में मदद करता है।

आज इस आर्टिकल में, मैं आपको बताने वाला हूँ किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग की on Page SEO कैसे की जाती है।

तो चलिए शुरू करते हैं…

    SEO क्या है और क्यों ज़रूरी है (SEO kya hai)

    SEO का मतलबSearch Engine Optimization होता है। यह आपको SERPs में बेहतर रैंक प्राप्त करने और आपकी साइट पर visitors की संख्या बढ़ाने में मदद करता है।

    यदि आप अपने ब्लॉग पर Quality content पब्लिश करते हैं, लेकिन SEO नहीं करते हैं, तो आपकी वेबसाइट सर्च रिजल्ट में नजर नहीं आयेगी।

    जब users कुछ भी सर्च करेंगे, तो search engine आपकी साइट को SERPs में list नहीं कर पायेगा। इसका मतलब यह है कि SEO के बिना आपकी वेबसाइट पर ट्रैफ़िक प्राप्त करना बहुत मुश्किल हो जायेगा।

    SEO कितने प्रकार के होते हैं (SEO types in Hindi)

    SEO के दो प्रकार के होते हैं,

    On Page SEO – कंटेंट क्वालिटी, कीवर्ड, टाइटल, टैग, कीवर्ड रिसर्च आदि को ऑप्टिमाइज़ करना on Page SEO कहलाता है। On Page SEO के बिना कोई भीवेबसाइट या ब्लॉग सर्च इंजन में Rank नहीं कर सकती है, भले ही आप कितनी भी अच्छी कंटेंट क्यों न लिखें।

    Off page SEO – इस SEO process में, लिंक बिल्डिंग और Promotions शामिल हैं।

    लेकिन यहां मैं केवल on Page SEO techniques के बारे में बात करूंगा!

    On-Page SEO Kaise Kare

    On-page SEO” website के blog post के (search engine) के  लिए optimizations किया जाता है जिससे “search engine website blog post के web” pages को rank करा सके on page SEO” मे blog को Heading tags और images alt tag, & keywords density, meta tags, को optimize किया जाता  इसे हम “on page SEO बोलते है “Hindi:”.

    • Step #1. Blog page के लिए Title tag केा optimise केा करे
    • Step #2. Heading tag H2, H3 केा optimise करे जिसमें आपका target keywords आना चाहिए!
    • Step #3. Meta tags को सही तरीके से लिखे जिसमें आपका multi pal target keywords आना चाहिए है
    • Step #4. images alt tag केा optimise करे images कम (KB) का हो or alt tag keyword आना चाहिए “SEO Web page के लिए impotent है!
    • Step #5. LSI keywords.
    • Step #6. internal link
    • Step #7. Outbound link
    • Step#8. Keyword Research Tools In Hindi

    On Page SEO Techniques in Hindi

    on-Page SEO एक ऐसी प्रोसेस है जसमें हम कंटेंट की title, permalink, meta description, website loading speed, alt tag आदि को ऑप्टिमाइज़ करते है। ताकि कंटेंट SERPs में प्रथम रैंक प्राप्त कर सकें।

    इसके लिए आपको ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं है, आपको कुछ टिप्स और प्रोसेस को फॉलो करना होगा। और Finally आप अपनी वेबसाइट पर अच्छे ट्रैफ़िक प्राप्त कर सकेंगे।

    On-Page SEO in Hindi | On-Page SEO Kaise Kare | on-page SEO kya hai | On-page SEO | On-page SEO techniques in Hindi | Kaise kare On-page SEO | Onpage SEO hindi.

    1. Content Quality पर ध्यान दें

    यह सबसे पहला और महत्वपूर्ण कदम है। हमेशा अपने ब्लॉग पर unique, Interesting और कुछ नया लिखें।

    यदि आप Quality Content नहीं लिखते हैं, तो reader अधिक समय तक आपके ब्लॉग पर नहीं रहेंगे और वे जल्द ही आपके ब्लॉग को छोड़ देंगे। इसके अलावा, Google low-quality content कंटेंट को रैंक नहीं करता है।

    जब Google किसी कंटेंट को रैंक करता है, तो यह विभिन्न प्रकार के Ranking factor का उपयोग करता है। लेकिन Content Quality अभी भी बहुत महत्वपूर्ण है।

    2. अपनी Title को Optimize करें

    on page SEO optimization में आपके ब्लॉग पोस्ट Title बहुत ही महत्वपूर्ण पहलू है। जब सर्च इंजन आपकी कंटेंट को क्रॉल करते हैं, तो वे कई चीजों को क्रॉल करते हैं – उनमें से एक Title है।

    साथ ही, यह visitors पर एक गहरा प्रभाव डालता है। यदि आपका टाइटल visitors को आकर्षित नहीं कर पाता है, तो वे कभी भी आपकी कंटेंट पर क्लिक नहीं करेंगे। चाहे आपका आर्टिकल कितना भी अच्छा क्यों न हो।

    हमेशा टाइटल की शुरुआत में अपने main keyword को रखने की कोशिश करें। कभी-कभी ऐसा हो सकता है कि आपको शुरुआत में इसे रखने में परेशानी हो, तो इसे बीच में डाल सकते है। यह सर्च इंजन को समझने में मदद करता है – आपकी कंटेंट किस बारे में है।

    3. आपके Content की Length

    छोटे आर्टिकल की तुलना में long आर्टिकल बहुत बेहतर होते हैं। Lengthy आर्टिकल सर्च इंजन में बेहतर प्रदर्शन करते हैं।

    आप इमेज को देखकर अच्छी तरह से समझ गए होंगे। इसलिए हमेशा detailed, high-quality और lengthy posts लिखने का प्रयास करें। लेकिन एक बात का ध्यान रखें, अपनी कंटेंट की लंबाई बढ़ाने के लिए उसमें बकवास बातें न लिखें।

    4. अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए SEO Friendly URLs बनाएं

    अपने पोस्ट URL को हमेशा छोटा रखें और उसमें अपने main keywords जोड़ें। इससे सर्च इंजन को यह समझने में मदद मिलती है कि आपका पोस्ट किस बारे में है।

    URL में Special characters, symbols, brackets, commas का उपयोग न करें।

    हमेशा short और readable URL create करने की कोशिश करें। लंबे URL सर्च रिजल्ट में पूरी तरह से दिखाई नहीं देते हैं।

    5. पोस्ट लिखने से पहले Keyword Research करें

    Keyword Research on-page SEO का अहम हिस्सा है। यदि आप अपने ब्लॉग पर unique और बहुत उपयोगी आर्टिकल लिखते हैं, लेकिन कीवर्ड रिसर्च नहीं करते हैं, तो आपके आर्टिकल SERPs में रैंक नहीं करेंगे।

    कई बेहतरीन टूल और वेबसाइट हैं जो आपके आर्टिकल से संबंधित अच्छे कीवर्ड खोजने में आपकी सहायता कर सकते हैं। यहां मैंने कुछ बेहतरीनKeyword Research Tools की एक लिस्ट बनायीं जिन्हें आप उपयोग कर सकते हैं।

    अपने आर्टिकल के लिए हमेशा low competition और high searches वाली keywords का उपयोग करें और इसके लिए आप Google AdWords Keyword Planner का उपयोग कर सकते हैं।

    6. अपने आर्टिकल के लिए Long Tail Keywords का उपयोग करें

    वेबसाइट ट्रैफिक बढ़ाने में Long Tail Keywords एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। ये बहुत अधिक targeted होते हैं।

    • Long Tail Keywords उपयोग करने के लाभ
    • Less competition.
    • Better conversion rates.
    • सर्च रिजल्ट में अच्छी रैंक करते है।
    • सर्च इंजन से अधिक ट्रैफिक प्राप्त करने में मदद करता है।

    7. अपनी Images को Optimize करें

    ऐसे कई ब्लॉगर हैं जो image optimization को नजरअंदाज करते हैं। वे अपनी Images के लिए उचित नाम और ALT tag का उपयोग नहीं करते हैं जो on-page SEO optimization के खिलाफ है।

    अपनी छवियों को अपलोड करने से पहले, उनके लिए हमेशा उपयुक्त नाम का उपयोग करें। और आप अपने फोकस कीवर्ड का उपयोग ALT tag के लिए कर सकते हैं। यहाँ एक गाइड है – SEO के लिए Images Optimization कैसे करें

    इसके अलावा, यदि आप अपनी कंटेंट के लिए बहुत सारी Images का उपयोग करते हैं, तो उन्हें

    resize और compress करें। यह आपकी image size को कम करता है और आपकी site load time में सुधार करता है।

    8. Keyword Stuffing से बचें

    Keyword Stuffing readers पर एक बुरा user experience बनाता है और साथ ही Google को भी यह बिल्कुल पसंद नहीं है।

    आपको लगता है कि ब्लॉग पोस्ट में बहुत सारे कीवर्ड का उपयोग करने से आपके ब्लॉग पर अधिक ट्रैफ़िक आएगा, लेकिन इसका विपरीत प्रभाव पड़ता है। यह technique आपकी साइट को penalty की ओर ले जाती है।

    आपकी पोस्ट में keyword density 1% -2% तक होनी चाहिए।

    9. अपनी साइट को Mobile Friendly बनाएं

    यह बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए सबसे पहले यह जांच करें कि आपकी साइट मोबाइल फ्रेंडली है। यदि आपकी साइट Mobile Friendly नहीं है, तो Google आपकी रैंकिंग को कम कर देगा और आपकी साइट मोबाइल सर्च के लिए अच्छा प्रदर्शन नहीं करेगी अर्थात अच्छी रैंक नहीं कर पायेगी।

    60% से 70% Serches अब मोबाइल devices पर की जाती हैं। इसीलिए सुनिश्चित करें कि आपकी वेबसाइट mobile devices में अच्छी दिखती है और बेहतर प्रदर्शन करती है।

    आपकी वेबसाइट या ब्लॉग Mobile Friendly है या नहीं इसे चेक करने के लिए आप Google के Mobile Testing Tool  का उपयोग कर सकते हैं । यदि नहीं है, तो आपको एक responsive WordPress theme इनस्टॉल करने की आवश्यकता है।

    10. पहले 100 शब्दों में अपना फोकस कीवर्ड Add करें

    आर्टिकल की शुरुआत के 100 शब्दों में एक बार फोकस कीवर्ड का उपयोग करें। यह Google को समझने में मदद करता आपकी कंटेंट किस बारे में है।

    इसके अलावा, अपने महत्वपूर्ण आर्टिकल को कंटेंट के पहले पैराग्राफ में लिंक करें। यह आपकी कंटेंट को और अधिक SEO friendly बनाता है और आपकी कंटेंट SERPs में बेहतर प्रदर्शन करती है।

    11. अपनी साइट की Loading Speed को Improve करें

    Google पेज स्पीड को ranking factor के रूप में उपयोग कर रहा है। इसलिए सुनिश्चित करें कि आपकी वेबसाइट fast लोड होती है। यदि आपकी साइट बहुत धीरे-धीरे लोड होती है, तो Google आपकी साइट को रैंक नहीं करेगा।

    इसके अलावा, आगंतुक Slow लोडिंग साइटों पर जाना पसंद नहीं करते हैं। फास्ट लोडिंग वेबसाइट रैंकिंग और user experience दोनों को प्रभावित करती है और search results में अच्छी रैंक करती है।

    12. Meta Descriptions को Optimize करें

    Meta Descriptions कंटेंट का संक्षिप्त विवरण होता है जो टाइटल के नीचे सर्च रिजल्ट में दिखाई देता है। यह आपकी कंटेंट पर Click Through Rate (CTR) को बढ़ाने में मदद करता है। अपने Meta Descriptions में फोकस कीवर्ड का उपयोग करें। Google आमतौर पर मेटा विवरण के लिए 150-160 characters लिखने की अनुमति देता है।

    13. उचित Heading Tags का उपयोग करें

    H1 टैग आपकी रैंकिंग को Boost करने में मदद करते है और सर्च इंजन को समझने में मदद करता है कि आपका पेज किस बारे में है।

    कई वर्डप्रेस थीम हैं जो टाइटल के लिए H1 टैग का उपयोग नहीं करते हैं। यदि आप ऐसी थीम का उपयोग करते हैं, तो आपको अपने टाइटल के लिए H1 टैग का उपयोग करना चाहिए। अपनी कंटेंट में H1 टैग को केवल एक बार उपयोग करें।

    इसके अलावा, Heading Tags आपको एक readable blog post लिखने में मदद करता है। मान लीजिए आप एक पोस्ट लिखते हैं जिसकी लंबाई 5000-6000 शब्द है, लेकिन उचित Heading Tags का उपयोग नहीं करता है, तो reader को पोस्ट को पढ़ना मुश्किल हो जायेगा।

    14. Regularly Fresh और New Posts लिखें

    यह आपकी रैंकिंग और readers दोनों को बढ़ाता है। लेकिन आपकी कंटेंट Informative और उपयोगी होनी चाहिए। Reader उन ब्लॉगों को पढ़ना अधिक पसंद करते हैं जो new और unique ideas के साथ रोज कंटेंट पब्लिश करते हैं।

    और साथ ही, Google उन ब्लॉगों को अधिक प्राथमिकता देता है जो नियमित रूप से पोस्ट प्रकाशित करते हैं।

    यदि आप एक सप्ताह में 2 पोस्ट पब्लिश करते हैं, लेकिन अगले सप्ताह कुछ भी पब्लिश नहीं करते हैं, तो यह रणनीति सप्ताह में 1 पोस्ट पब्लिश करने से भी बदतर है।

    15. अपनी कंटेंट में Broken Links को Fix करें

    यदि आपकी साइट में बहुत सारे Broken Links (404 not found) है, तो Google आपकी साइट को बहुत धीरे धीरे क्रॉल करेगा। सर्च इंजन (Google) समझेगा साइट को अच्छी तरह से maintain नहीं किया जाता है।

    Broken Links आपकी साइट रैंकिंग और user experience दोनों को प्रभावित करती हैं।

    Broken Links से छुटकारा पाने के लिए, आप Broken Link Checker plugin का उपयोग कर सकते हैं। यह प्लगइन आपकी साइट पर internal और external broken links को ठीक करने में मदद करता है।

    16. Internal Links

    SEO के लिए Internal linking बहुत जरूरी है।

    जब आप अपने पुराने आर्टिकल को नए आर्टिकल में लिंक करते हैं, तो इसे inter linking कहा जाता है। इसके कई फायदे हैं।

    • Link juice passes.
    • Boost Pageviews.
    • Reduce Bounce rate.
    • आपकी कंटेंट को अधिक जानकारीपूर्ण और user-friendly बनाता है।
    • Google आपकी साइट को तेज़ और बेहतर तरीके से क्रॉल करता है।
    • आपकी website SEO में सुधार होता है।

    17. कंटेंट में Related Keywords का उपयोग करें

    On Page SEO के अनुसार content में केवल फोकस कीवर्ड का उपयोग करना अच्छा नहीं है। अपनी कंटेंट में फोकस कीवर्ड से related keywords उपयोग करें। ताकि सर्च इंजन आपकी कंटेंट को बेहतर ढंग से समझ सकें और उन्हें पहले पेज पर रैंक कर सकें।

    18. Affiliate Links and Untrusted Links के लिए Nofollow Tag उपयोग करें

    यदि आप अपनी कंटेंट में में Affiliate Links का उपयोग करते हैं या Untrusted Links से लिंक करते हैं, तो उनके लिए rel = “nofollow” tags सेट करें। और इसके लिए आप Ultimate Nofollow plugin का उपयोग कर सकते हैं । यह प्लगइन rel = “nofollow” tag पर फुल कंट्रोल प्रदान करता है।

    इसके अलावा, यदि आप अपने Affiliate Links को प्रबंधित करने के लिए affiliate plugin का उपयोग करते हैं, तो आप प्लगइन का उपयोग करके अपने Affiliate Links के लिए no-follow attribute सेट कर सकते हैं।

    19. Outbound Links (External Link) का उपयोग करें

    जब आप अपनी कंटेंट में outbound link जोड़ते हैं, तो यह आपकी कंटेंट को visitors के लिए और अधिक informative बना देता है। साथ ही Google को आपके पेज के टॉपिक को पता लगाने में मदद करता है।

    जब आप किसी बाहरी साइट से लिंक करते हैं, तो आपको कई बातों का ध्यान रखना होता है – उस साइट की कंटेंट relevant और useful होनी चाहिए, वह साइट स्पैम नहीं होना चाहिए, उसका DA और PA भी अच्छा होना चाहिए।

    20. Social Sharing Buttons का उपयोग करें

    Social signals आपकी साइट की रैंकिंग में directly कोई भूमिका नहीं निभाते हैं। लेकिन social shares  आपकी कंटेंट पर अधिक ध्यान आकर्षित करने में मदद करते हैं।

    प्रत्येक पोस्ट के नीचे या पोस्ट की शुरुआत में Social Sharing Buttons का उपयोग करें। ताकि readers आसानी से अपने पसंदीदा सोशल प्लेटफॉर्म पर आपकी पोस्ट को शेयर कर सकें।

    21. अपने Title में Modifiers Word का प्रयोग करें

    Modifiers Word (“2020”, “best”, “guide”, “checklist”, “fast” and “review” ) आपके टाइटल को और अधिक आकर्षक बनाते हैं। वे Users पर एक अच्छा प्रभाव डालते हैं और Users को आपकी कंटेंट को पढ़ने के लिए मजबूर करते हैं।

    22. अपनी पोस्ट में Images और Video का उपयोग करें

    जब आप अपनी कंटेंट में images और video जोड़ते हैं, तो यह आपकी कंटेंट को अधिक आकर्षक और उपयोगी बनाता है। इसके अलावा, लोग आपकी साइट पर अधिक समय बिताते हैं।

    1 छवि 1,000 शब्दों के बराबर होती है लेकिन images आपकी कंटेंट से संबंधित होनी चाहिए।

    23. अपनी साइट को Clean और Simple रखें

    किसी भी साइट का डिज़ाइन Visitors पर एक अच्छी छाप बनाता है। बाजार में कई बेहतरीन WordPress themes उपलब्ध हैं जो आपकी साइट को एक साफ और सरल डिज़ाइन प्रदान करती हैं। लेकिन कई नए ब्लॉगर अपनी साइट को इतना रंगीन बनाते हैं कि वे readers का ध्यान भटकाने (distract) लगते हैं।

    On Page SEO Techniques के बारे में Quick Tips

    • टाइटल में अपना फोकस कीवर्ड उपयोग करें।
    • Permalink में फोकस कीवर्ड उपयोग करें।
    • पहले पैराग्राफ में अपना फोकस कीवर्ड उपयोग करें।
    • इमेज के ALT Tag में अपना फोकस कीवर्ड उपयोग करें।
    • Images अपलोड करने से पहले उसका सही नाम दें।
    • अपनी कंटेंट में Related कीवर्ड का उपयोग करें।
    • अपनी कंटेंट में long tail keywords का उपयोग करें।
    • Keyword density 1% से 2% के आसपास रखें।
    • अपनी कंटेंट में इन्फोग्राफिक्स और वीडियो उपयोग करें।
    • आपकी पोस्ट length कम से कम 1000 words की होनी चाहिए।
    • अपना पोस्ट URL छोटा रखें।
    • Image अपलोड करने से पहले उनको को Compress और resize करें।
    • Page load speed को बूस्ट करें।
    • अपनी ब्लॉग पोस्ट के लिए Catchy title लिखें और 65 characters का उपयोग करें।
    • कस्टम और आकर्षक meta description लिखें और 120 characters का उपयोग करें।
    • अपने Old आर्टिकल को नए आर्टिकल के साथ लिंक करें।
    • अपनी आर्टिकल में External लिंक add करें।
    • H1 टैग को एक बार से अधिक उपयोग न करें।
    • अपनी साइट को mobile friendly बनाएं।
    • अपनी ब्लॉग पर रोज new और quality post पब्लिश करें।
    • टाइटल में modifiers शब्द का उपयोग करें।
    • अपनी साइट का डिज़ाइन साफ़ और सिंपल रखें।
    • कंटेंट में broken links को ठीक करें।
    • प्रत्येक पोस्ट के नीचे या पोस्ट की शुरुआत में Social share button का उपयोग करें।
    • Affiliate links and untrusted links के लिए Nofollow टैग का उपयोग करें।

    निष्कर्ष (Conclusion)

    ये कुछ टॉप on Page SEO tips हैं जो आपकी वेबसाइट ट्रैफ़िक को बढ़ाने में आपकी मदद करेंगी। जब आप इन on Page SEO techniques को अपनी वेबसाइट पर Implement करते हैं, तो आपको तुरंत रिजल्ट नहीं मिलेगा। यह एक long time process है, आपको थोड़ा धैर्य रखना होगा।

    अगर यह on Page SEO tutorial आपके लिए helpful साबित हुई है, तो इसे share करना न भूलें!

    Tags: On-Page SEO in Hindi | On-Page SEO Kaise Kare | on-page SEO kya hai | On-page SEO | On-page SEO techniques in Hindi | Kaise kare On-page SEO | Onpage SEO hindi.